टाउन हाल में नई जनसंख्या नीति पर आयोजित हुयी संगोष्ठी, विशेषज्ञों ने परिवार नियोजन विषय पर की परिचर्चा*

*टाउन हाल में नई जनसंख्या नीति पर आयोजित हुयी संगोष्ठी, विशेषज्ञों ने परिवार नियोजन विषय पर की परिचर्चा*

 

रिपोर्ट सुशील कुमार द्विवेदी

 

गोंडा-: विश्व जनसंख्या दिवस 11 जुलाई इस बार रविवार को पड़ने के कारण, इस दिवस के अवसर जिले में आयोजित की जाने वाली गतिविधियां सोमवार 12 जुलाई को जिले के सम्पूर्णानंद प्रेक्षा गृह (टाउन हॉल) में की गयीं, जहाँ “जनसंख्या स्थिरता : भारत की आवश्यकता” एवं प्रदेश सरकार की नई जनसंख्या नीति पर संगोष्ठी एवं परिचर्चा कार्यक्रम का आयोजन किया गया। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ आरएस केसरी ने कार्यक्रम का शुभारंभ करते हुए कहा कि इस बार विश्व जनसंख्या दिवस “आपदा में भी परिवार नियोजन की तैयारी, सक्षम राष्ट्र और परिवार की पूरी ज़िम्मेदारी” की थीम पर मनाया जा रहा है, इसका उद्देश्य तेजी से बढ़ती हुयी आबादी में स्थिरीकरण लाने के साथ ही प्रजनन, मातृ एवं शिशु स्वास्थ्य स्तर को बेहतर बनाना है।सकल प्रजनन दर को कम करने पर ही जनसंख्या होगी स्थिर –

अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी परिवार कल्याण डॉ एपी सिंह ने जनसंख्या स्थिरीकरण के लक्ष्य के बारे में बताते हुये कहा कि सरकार का लक्ष्य वर्तमान में प्रदेश के सकल प्रजनन दर 2.7 को घटाकर को 2026 तक 2.1 तथा 2030 तक 1.9 तक लाना है।उप मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ मनोज ने बताया कि परिवार नियोजन के आधुनिक साधनों की जानकारी व सेवाओं को उपलब्ध कराने के लिए 11 जुलाई से 31 जुलाई 2021 तक जनपद के समस्त स्वास्थ्य केन्द्रों पर जनसंख्या स्थिरता पखवाड़ा मनाया जाएगा, जिसमें परिवार नियोजन की सभी स्थायी व अस्थायी साधनों के उपयोगिता एवं महत्व के बारे में लोगों को खासकर नव दम्पत्तियों को जानकारी दी जाएगी और सेवाओं का लाभ लेने के लिए काउंसलिंग के माध्यम से लोगों को प्रेरित भी किया जाएगा।

परिवार नियोजन के सभी साधन हैं निःशुल्क –

 

डॉ टीपी जायसवाल ने बताया कि जनपद में प्रत्येक माह 21 तारीख को खुशहाल परिवार दिवस मनाया जाता है । इस दिवस पर दो बच्चों के जन्म में अंतर रखने के लिए अंतरा इंजेक्शन के अलावा परिवार नियोजन के दूसरे आधुनिक साधन निःशुल्क उपलब्ध कराये जाते हैं। इस मौके पर समस्त सीएचसी अधीक्षक, डीपीएम अमरनाथ, एफपीएलएमडी सलाहुद्दीन लारी, आरकेएसके के समन्वयक रंजीत सिंह, डीईआईसी मैनेजर उमाशंकर वर्मा, आरएनटीईपी समन्वयक विवेक सरन, मैटरनल हेल्थ काउंसलर डॉ आमिर खान, बीपीएम करिश्मा सिंह, अर्श काउंसलर विवेक सिंह, प्रीतेश त्रिवेदी, विनोद वर्मा समेत अन्य लोग उपस्थित रहे ।

Related posts

Leave a Comment