बाबू ईश्वर शरण चिकित्सालय इमरजेंसी वार्ड के चिकित्सक मरीजों को लिख रहे बाहर की दवा

बाबू ईश्वर शरण चिकित्सालय इमरजेंसी वार्ड के चिकित्सक मरीजों को लिख रहे बाहर की दवा

 

वही चिकित्सालय की दवा बता रहे हैं डुप्लीकेट तो मरीज महंगे दामों में दवा खरीदने को मजबूर

 

 

क्राइम ब्यूरो रंजीत तिवारी

 

 

गोंडा जिले के बाबू ईश्वर शरण चिकित्सालय इमरजेंसी वार्ड के चिकित्सक मरीजों को बाहर की दवा लेने के लिए मजबूर कर रहे हैं चाहे उसके पास पैसा हो या ना हो इससे इनको मतलब नहीं है इतना ही नहीं मरीजों के परिजनों से यह कहा जाता है कि चिकित्सालय की दवाएं लो क्वालिटी की है बस इतना सुनते ही लाचार मरीज का परिवार कमीशन वाली दवाएं खरीदने को मजबूर हो जाता है इसी तरह एक और वाक्य उभर कर सामने आया है बताते चलें कि इटियाथोक क्षेत्र का रहने वाला एक मरीज को उसके पेट में काफी पीड़ा थी जब उसे बाबू ईश्वर शरण चिकित्सालय इमरजेंसी वार्ड में ले जाया गया तो वहां पर तैनात चिकित्सक डॉक्टर शोएब इकबाल ने 800 रुपए की दवा लिखते हुए कहा कि गेट के बाहर जनता मेडिकल स्टोर से जाकर ले लो मरीज के परिजनों का कहना है कि जब डॉक्टर शोएब इकबाल से यह पूछा गया कि आप बाहर की दवा क्यों लिख रहे हैं तो डॉक्टर साहब के मुंह से यह निकल रहा है कि यहां की सभी दवाई

लो क्वालिटी की है आराम नहीं करेगा वही इमरजेंसी वार्ड नर्स कह रही है कि यहां पर सारी औषध मौजूद हैं इसी तरह बात कह कर डॉक्टर शोएब इकबाल ने दो दिन तक बाहर की दवा चलाते गए फिर उसके तीसरे दिन यह कह रहे हैं कि अगर स्वास्थ्य होना है तो हमारे निजी क्लीनिक में भर्ती हो जाओ मीडिया के मुताबिक यह भी कहना जरूरी है कि डॉक्टर शोएब इकबाल दिन प्रतिदिन लूट कर भोले भाले लोगों को आर्थिक शोषण का शिकार बना रहे हैं यह एक और चिंतन का विषय बना हुआ है

 

जब इस बाबत सीएमएस से बात की गई तो उन्होंने कहा कि हमारे अस्पताल में लगभग सभी दवाएं उपलब्ध है जो कि इस प्रकरण की जानकारी हमें नहीं थी जानकारी हुई है उचित कार्रवाई की जाएगी

Related posts

Leave a Comment